• Three macintosh computers
  • Three macintosh computers
  • Three macintosh computers
  • Three macintosh computers
  • Three macintosh computers
1 2 3 4 5

 

रामावलंबन




" दया लिया साधै धरम ","दया धरम को मूल है " तथा परहित सरिस धरम नहीं भाई " | ऐसे इन संत संदेशो को ह्रदयसात कर दया ही को धर्म जानकर परहित एवं परोपकार हेतु श्री रामकल्याण रामस्नेही "बालक" ने सन २०११ में एक समाज सेवी संस्था की स्थापना की | चूँकि दुखी व निराश्रित व्यक्तियों का अंतिम आश्रय ईश्वर ही है | और ईश्वर , खुदा , परमेश्वर का एक नाम राम भी है | आखर मधुर मनोहर दोउ | चूँकि सभी दुखी कातर जिव अंततः राम का ही अवलंबन ग्रहण करते है | इसलिए सभी का सहारा राम ही है | अवलंबन आश्रय तथा सहारा का पर्यायवाची है | अतः राम ही सभी का अवलंबन है | ऐसा शुभ भाव ह्रदय में धारण कर श्री "बालक" ने इस संस्था का नाम रामावलंबन रख दिया | इसका पूरा नाम "रामावलंबन बाल एवं वृद्ध सामाजिक शैक्षणिक कल्याण समिति है |"
यह संस्था विशेषतः निराश्रित बालको व उपेक्षित वृद्ध जनो के हित में बनाई गई  है | इस तरह सभी सेवा कर्मो के लिए "रामावलंबन" तत्पर है और रामावलंबन की सेवाए शिक्षण संरक्षण तथा संस्करण के रूप में प्रस्तुत हो रही है | यद्यपि इसका नियत स्थान रुनिजा , तहसिल - सुवासरा, जिला - मंदसौर में निर्माणाधीन है | तथापि रामावलंबन की सेवाए जनहित, जीवहीत , परहित तथा प्राणीहित में निरंतर जारी है |

 

इसके कार्य :

अत्यंत गरीब निराश्रित व अपेक्षित बुजुर्गो को कम्बल, कपड़े, जूते, छाता, छत, राशन तथा दवाई आदि उपलब्धकरना और उन्हें तीर्थ यात्राये करवाना तथा प्रेम सेवा व सम्मान प्रदान कर प्रसन्न करना |
गरीब बच्चो का शिक्षा में उचित सहयोग व शिक्षा में उपयोग आनेवाली वस्तुए उन्हें
उपलब्ध करवाना  | जो गरीब बच्चे पड़ने में होशियार हो उनकी उच्च शिक्षा का खर्च उठाना तथा उन्हें उच्च ज्ञानार्जन  के लिए प्रेरित कर सम्पूर्ण खर्च वहन करना तथा उनके आगे बढने में उनका सहयोग करना |
बच्चो में नैतिक गुणों का विकास हो तथा उनके भीतर राम-राष्ट्र प्रेम की भावना जाग्रत हो | इसके लिए बाल संस्कार शिविरों का आयोजन करना | इन बाल संस्कार शिविर में सभी समाज वर्ग के बच्चे भाग लेते है |
गरीब विधवा माताओ की यथायोग्य सहायता तथा गरीब बीमार व्यक्तियों के इलाज का खर्च वहन करना |
सफाई अभियान, गौ  घांस व गौ सेवा के हित, पंछी हित पक्षी-दाना व परिंडा अभियान | और भी ऐसे अनेक कार्य जिससे समाज राष्ट्र एवं अन्य वंचित वर्गों का हित हो |  

इसी प्रकार अभी - अभी जन्मा "रामावलंबन" धीरे - धीरे चलने की कोशिश कर रहा है | छोटे बच्चे के जिस प्रकार पैर चलते समय लड़खड़ा जाते है और जिस प्रकार चलते चलते छोटा बच्चा गिर जाता है किन्तु हारता नहीं और फिर उठ कर चलने की कोशिश करता है आखिर उसके हौसले रंग लाते है और वो लडखडाता छोटा बच्चा अब दौड़ने लगता है | क्योंकि रामावलंबन का जन्म अभी अभी हुआ है लडखडाहट तो है | किन्तु आखिर राम के अवलंबन पर ही तो रामावलंबन का निर्माण हुआ है और
"सबले शरणे राम के निर्बल होए बलवंत"
तो "श्री बालक " का यह रामावलंबन बालको व बुजुर्गो तथा समाज राष्ट्र व जिव हित में संलग्न है |और कर्त्तव्य का अनुभव करता कराता सफलता की  और बड़ रहा है रामावलंबन |

 

 

कोई है जो आपका अपना है : रामावलंबन